विज्ञान भी मानता है इन मंदिरों का लोहा, नदी के पानी से जलता है मां के लिए दीपक

माता के चमत्कारों से पूर्ण यह भारत के दिल मध्य प्रदेश में नलखेड़ा से 15 किमी दूर गांव गाड़िया के पास कालीसिंध नदीं के किनारे स्थित है। इस मंदिर में होने वाले चमत्कार को देखकर किसी भी व्यक्ति का सिर सहज ही श्रद्धाभाव से झुक जाएगा। इस मंदिर में दीपक जलाने के लिए किसी घी या तेल की आवश्यकता नहीं होती, बल्कि दीपक को जलाने हेतु पानी का इस्तेमाल किया जाता है। इस मंदिर में पानी का दीपक जलता है।

मान्यता है कि बरसात के मौसम में मंदिर नदी के पानी में पूरी तरह डूब जाता है, तब इस ज्योत को बुझा दिया जाता है। नदी का पानी कम हो जाने पर शारदीय नवरात्र के पहले यह ज्योत फिर से पुजारी द्वारा जला दी जाती है, जो अगली बरसात तक जलती रहती है। यहां आस्था और विश्वास के आगे न केवल मानव बल्कि विज्ञान भी नतमस्तक नजर आता है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *